उत्तर प्रदेश के बेटे को नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई, उमड़ा जनसैलाब

उत्तर प्रदेश के बेटे को नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई, उमड़ा जनसैलाब

हापुड़ : उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड़ के थाना धौलाना क्षेत्र के गांव शौलाना के रहने वाले जवान 23 वर्षीय जितेंद्र उर्फ जॉनी जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में आतंकियों से साथ हुई मुठभेड़ में देश की रक्षा करते हुए शहीद हो गए थे. जिनका शव गुरुवार को गांव शौलाना में लाया गया. गांव में शहीद का शव आते ही लोगों की आंखें नम हो गईं और उनके पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन देने के लिए पूरा क्षेत्र उमड़ पड़ा. उनका गांव में ही अंतिम संस्कार किया गया.

मुठभेड़ के बाद पाकिस्तान के (लश्कर-ए-तैयबा) तीन आतंकियों को मार गिराया था-

बता दें कि बुधवार को जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा के जंगलों में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ के बाद पाकिस्तान के (लश्कर-ए-तैयबा) तीन आतंकियों को मार गिराया था. जिसमें जवान जितेंद्र भी शहीद हुए थे, जो कि हापुड़ के थाना धौलाना क्षेत्र के गांव शौलाना के रहने वाले थे. उनका पार्थिव शरीर गुरुवार को शौलाना गांव में लाया गया और अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान सेना के जवानों ने उन्हेंो सलामी दी. वहीं केंद्रीय राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह, मंत्री सुरेश राणा और पूर्व मंत्री मदन चौहान ने उन्हेंन श्रद्धा सुमन अर्पित किए और शहीद के परिजनों को सांत्वहना दी. शहीद जितेंद्र के अंतिम संस्कार में पूरा गांव ही नहीं बल्कि पूरा क्षेत्र उमड़ पड़ा. इस दौरान हजारों लोगों ने नम आंखों के साथ ही शहीद जि‍तेन्द्र का गांव में ही अंतिम संस्कार किया. इस मौक पर लोगों ने शहीद जितेंद्र अमर रहे और पाकिस्ताून मुर्दाबाद के नारे भी लगाए.

मंत्री ने सौंपा शहीद के परिवार को 20 लाख का चेक-

मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि बनकर शहद के गांव पहुंचे प्रदेश के गन्ना चीनी मिल औद्योगिक विकास स्वतंत्र प्रभार मंत्री सुरेश राणा दिन में दोपहर के समय गांव में पहुंचे थे. धौलाना एसडीएम हनुमान प्रसाद सिंह ने बताया कि मंत्री सुरेश राणा ने प्रदेश सरकार की तरफ से 20 लाख का चेक शहीद के पिता को सौंपा. साथ ही मकान, खेती की जमीन, आदि को जल्द उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया. जिसके दिशा-निर्देश उन्होंने स्थानीय प्रशासन को दिए. साथ ही पत्रकारों को बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व्यस्थता के कारण नहीं आ पाये हैं जल्द ही वे पीड़ित परिवार के बीच पहुंचने का प्रयास करेंगे. सुबह से प्रशासन व्यवस्था में जुटा रहाजिलाधिकारी कृष्णा करूणेश के निर्देश पर प्रशासन व्यवस्था में जुटा रहा.

आंतकियों को ढेर कर गोली लगने से शहीद हो गया था जितेन्द्र-

वहीं, शहीद को श्रद्वासुमन अर्पित करने डीएम सहित एडीएम रजनीश राय, एसपी हेमंत कुटियाल, एएसपी राममोहन सिंह, कोतवाल पी के त्रिपाठी, पीआरओ संजीव शुक्ला, धौलाना एसडीएम हनुमान प्रसाद सिंह मोर्या, नायब अजय शर्मा, धौलाना थानेदार नरेन्द्र शर्मा, कानूनगो प्रवीन कुमार शर्मा, आर के ब्रजेश शर्मा, लेखपाल ओमवीर सिंह, ताहिर, प्रहलाद शर्मा, हल्का प्रभारी राजेन्द्र सिंह, राजपाल सिंह, सहित प्रशासन के तमाम अधिकारी उपस्थित रहे. एक नजरतीन आंतकियों को ढेर कर गोली लगने से शहीद हो गया था जितेन्द्र.

गांव में बनेगा भव्य स्मारक-

शहीद को श्रद्वाजलिं अर्पित करने दो मंत्री भी पहुंचे. शहीद परिवार को दी जायेगी हर तरह की मदद. गांव में बनेगा भव्य स्मारक. शहीद का शव घर आते ही मां बेटे के लिए रसोई में रोटी लेने के लिए दौडी, लेकिन मां के हाथ से शहीद जितेन्द्र रोटी ना खा सका.सुबह से ही हजारो की भीड शहीद के शव के अंतिम संस्कार के लिए जुटी रही. शहीद परिवार को प्रदेश सरकार ने दी 20 लाख रुपये की सहायता राशि का चेक.

News18tv

Related Posts