मन की बात: 26/11 हमले में जान गंवाने वालों को भूल नहीं सकता देश: PM मोदी

मन की बात: 26/11 हमले में जान गंवाने वालों को भूल नहीं सकता देश: PM मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज देश की जनता से 38वीं बार ”मन की बात’ कर रहे हैं। कार्यक्रम की शुरुआत में पीएम मोदी ने बाल दिवस के मौके पर कर्नाटक में बच्चों से हुई बातचीत का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि बच्चों ने उन्हें लेटर लिखे हैं, जिनसे पता चलता है कि ये नन्हें-मुन्हें बालक भी देश की समस्याओं से परिचित हैं.

आज हमारा संविधान दिवस है-

मोदी ने इस कार्यक्रम में कहा कि आज हमारा संविधान दिवस है. उन्होंने कहा कि समानता हमारे संविधान की पहचान है. संविधान निर्माताओं ने कड़ी मेहनत करके इसे बनाया है। पीएम मोदी ने स्वच्छता पर बात करते हुए कहा कि गांव अब खुले में शौच से मुक्त हो गया है. उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश के 8 वर्षीय दिव्यांग बाल तुषार ने अपने गांव को खुले में शौच से मुक्त करने का बीड़ा उठाया.

4 दिसंबर को सशस्त्र सेना दिवस है-

पीएम मोदी ने कहा कि 4 दिसंबर को सशस्त्र सेना दिवस है. इस अवसर पर बोलते हुए मोदी ने कहा कि हमारी नौसेना दुनिया की मदद कर रही है. आर्म फोर्स डे पर स्कूल में कार्यक्रम का आयोजन करे। उन्होंने कहा कि यूरिया से किसानों को नुकसान पहुंचता है इसलिए किसानों को उसका प्रयोग कम करना चाहिए. उन्होंने कहा कि मिट्टी को बेहतर ढंग से समझने के लिए बहुत से किसानों ने सॉइल हेल्थ कार्ड बनवाए हैं. सॉइल हेल्थ कार्ड का इस्तेमाल करने के लिए किसान भाइयों को शुभकामनाएं. पीएम मोदी ने मिट्टी पर बात करते हुए कहा कि अगर दुनिया में उपजाऊ मिट्टी न हो तो क्या हो.

जैविक खाद मिट्टी के लिए बेहतर –

पीएम मोदी ने कहा कि जैविक खाद मिट्टी के लिए बेहतर है. इस दौरान मोदी ने कहा कि मिट्टी को वैज्ञानिक तरीके से संवारना जरुरी है, क्योंकि हम जो भी खाते है मिट्टी से जुड़ा है. पीएम मोदी ने किसानों से अपील करते हुए कहा कि 2022 तक किसान युरिया का प्रयोग आधा करे. रबी की फसल पर बात करते हुए मोदी ने कहा कि 2016-17 में गेंहू के उत्पादन में तीन से चार गुना की बढ़ोत्तरी हुई। उन्होंने कहा कि 5 दिसंबर को वर्ल्ड सॉयल डे है.

पीएम मोदी ने मुंबई हमले पर बोलते हुए कहा कि 9 साल पहले आतंकियों ने मुंबई को दहलाया था. इसके साथ ही मोदी ने कहा कि 26/11 को देश नहीं भूल सकता है. मोदी ने आतंकवाद को सबसे बड़ी चुनौती बताया. उन्होंने कहा कि भारत 40 साल से आतंकवाद से पीड़ित है. वहीं गुजरात में रविवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ कई अन्य बीजेपी नेता पीएम नरेंद्र मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम के दौरान लोगों के साथ चाय की चुस्की लेंगे. इस कार्यक्रम का नाम ‘मन की बात-चाय के साथ’ रखा गया है.

अलग-अलग खेल में हमारे खिलाड़ियों ने देश का नाम रोशन किया-

पीएम ने खेल में भारत के अच्छे प्रदर्शन का जिक्र करते हुए कहा कि अलग-अलग खेल में हमारे खिलाड़ियों ने देश का नाम रोशन किया है. इसमें उन्होंने हॉकी टीम, किदाम्बी श्रीकांत के अच्छे प्रदर्शन की बात कही। FIFA Under-17 World Cup का जिक्र कर मोदी बोले कि भले ही, भारत खिताब न जीत पाया लेकिन भारत के युवा खिलाड़ियों ने सभी का दिल जीत लिया.

कार्यक्रम से शुरू होने से पहले पीएम ने ट्वीट कर की अपील-

इस बार के कार्यक्रम से शुरू होने से पहले पीएम ने ट्वीट करके एक बार फिर लोगों से अपील की और कहा कि वे अपने विचारों को नरेंद्र मोदी मोबाइल एप्लीकेशन पर जरूर साझा करें. एक ओर पीएम मोदी मन की बात करेंगे, वहीं दूसरी ओर इसी दौरान बीजेपी के कई दिग्गज नेता गुजरात में चाय पर चर्चा करेंगे। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, वित्त मंत्री अरुण जेटली समेत कई चेता गुजरात चुनाव पर बातचीत करेंगे.

इससे पहले हुए कार्यक्रम में पीएम ने बच्चों के स्वास्थ्य पर परिजनों को ध्यान देने की हिदायत दी थी. वहीं पीएम ने कहा था कि जम्मू कश्मीर के गुरेज सेक्टर में सैनिकों के साथ मनाई गई दिवाली को वह कभी नहीं भूलेंगें.

क्या-क्या कहा पीएम मोदी ने-

– पीएम ने कहा कि शिक्षा व्यवस्था में बदलाव की जरूरत है, क्योंकि आजकल के बच्चे क्लास में बैठ कर पढ़ना पसंद नहीं करते और वे प्रकृति के बारे में जानना पसंद करते हैं।

– 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है। पीएम ने बताया कि इसके निर्माताओं के करीब तीन साल तक कठोर परिश्रम किया। इसिलए जो भी उस डिबेट को पढ़ता है, हमें गर्व होता है कि राष्ट्र को समर्पित जीवन की सोच क्या होती है?

– पीएम ने कहा कि क्या आप कल्पना कर सकते हैं कि विविधताओं से भरे अपने देश का संविधान बनाने के लिए उन्होंने कितना कठोर परिश्रम किया होगा?

– संविधान हर नागरिक, गरीब हो या दलित, पिछड़ा हो या वंचित, आदिवासी, महिला सभी के मूलभूत अधिकारों की रक्षा करता है और उनके हितों को सुरक्षित रखता है।

– पीएम ने कहा कि आज हम भारत के जिस संविधान पर गौरव का अनुभव करते हैं, उसके निर्माण में बाबासाहेब आंबेडकर के कुशल नेतृत्व की अमिट छाप है।

– पीएम ने कहा कि आज ही के दिन एक खौफनाक पल भी भारत के इतिहास में आया था। ये देश कैसे भूल सकता हैं कि नौ साल पहले 26/11 को, आतंकवादियों ने मुंबई पर हमला बोल दिया था।

– पीएम ने कहा कि 4 दिसंबर को नौसेना दिवस है और हमें ये ध्यान रखना चाहिए कि हमारे सैनिक समुद्र-तटों की रक्षा और सुरक्षा प्रदान करते हैं।

News18tv

Related Posts