आजादी का संघर्ष नहीं, भाड़े के सिपाहियों से चलाया जा रहा है कश्मीर में आंदोलन: जितेंद्र सिंह

आजादी का संघर्ष नहीं, भाड़े के सिपाहियों से चलाया जा रहा है कश्मीर में आंदोलन: जितेंद्र सिंह

जम्मू: केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने पाकिस्तान के उस दावे का शुक्रवार को मजाक बताया जिसमें वह बार-बार कहता रहा है कि कश्मीर में ‘आजादी का आंदोलन’ चल रहा है. उन्होंने कहा कि यह कोई ‘आजादी का आंदोलन’ नहीं बल्कि एक ‘कृत्रिम आंदोलन’ है जिसे ‘भाड़े के सिपाहियों द्वारा चलाया जा रहा’ है और इसने अब एक उद्योग का रूप ले लिया है. उन्होंने कहा कि घाटी के युवा अब उन तत्वों के नापाक इरादों को समझ गये हैं जो उन्हें ‘बलि का बकरा’ की तरह इस्तेमाल करते रहे हैं जबकि उनके खुद के बच्चे सुरक्षित जगहों पर रह रहे हैं.

यह आंदोलन नहीं, सिर्फ मजाक है-

उन्होंने आज कहा, ‘कश्मीर में आजादी के आंदोलन जैसी कोई चीज नहीं है. यह सिर्फ एक मजाक है. यह कृत्रिम आजादी का संघर्ष है.
यह भाड़े के सिपाहियों से चलाया जा रहा आंदोलन है जिसने अब एक उद्योग का रूप ले लिया है जिसमें कई निहित स्वार्थ जुड़े हुए हैं और आजादी के संघर्ष के नाम पर ऐसे लोग अशांति फैलाते हैं.

इससे पहले उन्होंने कहा था कि जम्मू कश्मीर के बारे में ‘नजरिया बदलने’ की जरूरत है क्योंकि कश्मीर मुद्दे जैसी कोई बात ही नहीं है और चर्चा इस बात पर होनी चाहिए कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) को कैसे वापस हासिल किया जाए?

News18tv

Related Posts