आ गया अरविंद केजरीवाल की फिल्म का ट्रेलर, भ्रष्‍टाचार के अरोपों से लेकर दिल्‍ली की जीत

आ गया अरविंद केजरीवाल की फिल्म का ट्रेलर, भ्रष्‍टाचार के अरोपों से लेकर दिल्‍ली की जीत

नई दिल्ली:  आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के वर्तमान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के जीवन पर आधारित फिल्म ‘एन इनसिग्निफिकेंट मैन’ का ट्रेलर रिलीज हो चुका है है. आपको बता दें ये फिल्म एक सामाजिक कार्यकर्ता से लेकर राजनेता बने अरविंद केजरीवाल के भारतीय राजनीतिक की कहानी को दिखाती है. जिसमें खुद अरविन्द केजरीवाल ने अपनी भूमिका अदा की है. ये एक डॉक्‍यूमेंट्री फिल्‍म है, जिसका निर्माण विनय शुक्‍ला और खुशबू रांका ने किया है. उनका कहना है कि यह एक नॉन फिक्शनल पोलीटिकल फिल्म है, जो सामाजिक कार्यकर्ता से लेकर राजनेता बने अरविंद केजरीवाल के भारतीय राजनीतिक की कहानी को दिखाती है.

17 नवंबर को होगी रिलीज –

ये फिल्म भारत में 17 नवंबर को रिलीज होगी और इसे अमेरिकी मीडिया कंपनी वाइस रिलीज करेगी. इस फिल्म को ‘मास्टरपीस’ बताते हुए, वाइस ने घोषणा की है कि अब वह फिल्म को पूरे भारत और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रिलीज करने कि लिए निर्माता आनंद गांधी की मेमिसिस लैब के साथ साझेदारी करेंगे. वाइस डॉक्यूमेंट्री फिल्म्स के कार्यकारी निर्माता, जेसन मोजिका ने कहा, “मैंने ‘एन इनसिग्‍निफिकेंट मैन’ टोरंटो अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल 2016 में देखी और मुझे लगा कि यह फिल्म मार्शल करी की ‘स्ट्रीट फाइट’ के बाद जमीनी राजनीति पर बनी सबसे बेहतरीन डॉक्यूमेंट्री फिल्म है.’

बहुत पहले ही बन चुकी थी ये फिल्म-

केजरीवाल और उनकी पार्टी पर डॉक्युमेंट्री फिल्म का निर्माण काफी पहले ही कर लिया था और यह फिल्म कई फिल्म फेस्टिवल्स में दिखाई जा चुकी है. लेकिन इसे हाल ही में सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट मिल सका है. दरअसल इस फिल्म पर केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष पहलाज निहलानी को ऐतराज था. उन्होंने फिल्म रिलीज करने के लिए फिल्म निर्माताओं से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित और अरविंद केजरीवाल से अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) लाने को कहा था. अंत में, फिल्म प्रमाणन अपीलीय न्यायाधिकरण ने फिल्म को मंजूरी दे दी.

कौन हैं अरविंद केजरीवाल-

केजरीवाल का जन्म 16 अगस्त 1968 को, हरियाणा के हिसार जिले में हुआ. इनके पिता का नाम गोबिंद राम केजरीवाल है और माता का नाम गीता देवी. केजरीवाल की पत्नी का नाम सुनीता है, जो मसूरी में सिविल सर्विसेस की ट्रेनिंग के दिनों में उनकी बैचमेट भी थीं. दोनों ने साथ ही आईआरएस ज्वाइन किया था.

1985 में आईआईटी खड़गपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री कोर्स में प्रवेश लिया. 1989 में टाटा स्टील, जमशेदपुर में ज्वाइन किया. वहां से छुट्टी लेकर सिविल सर्विस के इंटरेंस की तैयारी की. 1992 में नौकरी छोड़ दी. कुछ समय कोलकाता में रामकृष्ण मिशन की नॉर्थ-ईस्ट इकाई के साथ बिताया. पहली बार में ही सिविल सर्विसेज का इंटरेंस निकाल कर 1995 में इंडियन रेवेन्यू सर्विस ज्वाइन की.

इसी दौरान केजरीवाल मदर टेरेसा से मिले और उनके साथ काम किया. 1999-2000 के बीच उन्होंने परिवर्तन मूवमेंट की शुरुआत की. यह अभियान इनकम टैक्स, बिजली और राशन से संबंध‍ित बातों के प्रति जनता को जागरूक करने के लिये चलाया. 2003 में उन्होंने फिर से आईआरएस ज्वाइन किया और 18 महीने के लिये वहां काम किया। साथ में उनका समाज कार्य भी चलता रहा.

2006 में आरटीआई ऐक्ट-

2006 में आरटीआई ऐक्ट के लिये रमन मैगसेसेय अवार्ड से उन्हें नवाजा गया. उन्होंने आईआरएस की नौकरी छोड़ दी और मैगसेसेय अवार्ड से प्राप्त धन को एनजीओ पब्लिक कॉस रिसर्च फाउंडेशन को दान कर दिया.

आम आदमी पार्टी की स्थापना-

ये अहिंसावादी और समाजसेवी अन्ना हजारे के संपर्क में आये और उनके साथ मिलकर जन लोकपाल बिल के लिये जंग शुरू की. 2012 में आम आदमी पार्टी की स्थापना की. इसके बाद इन्होंने चुनाव लड़ा और दिल्ली के सीएम बने.

देखें ट्रेलर

News18tv

Related Posts