सेना को बड़ी सफलता, जैश सरगना मसूद अजहर का भांजा हुआ ढेर

सेना को बड़ी सफलता, जैश सरगना मसूद अजहर का भांजा हुआ ढेर

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सोमवार को सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गए. जिसमें जैश-ए-मोहम्मद चीफ अजहर मसूद का भतीजा रशीद तल्हा भी शामिल था. वहीं सेना का एक जवान भी शहीद हो गया. सेना ने सर्च ऑपरेशन चलाकर देर रात तीन आतंकवादियों को मार गिराया.

तलाशी अभियान के दौरान मुठभेड़-

बता दें सूत्रों से आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिलने पर राष्ट्रीय राइफल्स रेजीमेंट, एसओजी और सीआरपीएफ ने संयुक्त तलाशी अभियान शुरू किया. उसी दौरान एक मकान से जवानों पर ताबड़तोड़ फायरिंग होने लगी. जिसके बाद सेना के जवानों ने मोर्चा संभालते हुए पलटवार किया. सेना अभी भी सर्च ऑपरेशन अभियान चला रही है.

तीन आतंकी तो मारे गए लेकिन एक जवान भी शहीद-

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार भारतीय सेना 44 आरआर और 182 सीआरपीएफ द्वारा कांडी इलाके में आतंकियों को पकड़ने के लिए ऑपरेशन चलाया गया था. उसी दौरान एक मकान से जवानों पर ताबड़तोड़ फायरिंग होने लगी. जिसके बाद सेना के जवानों ने मोर्चा संभालते हुए पलटवार किया. इस ऑपरेशन के में तीन आतंकी तो मारे गए लेकिन एक जवान भी शहीद हो गया. सेना को आतंकियों के पास से एक पिस्टल और दो एके-47 बरामद हुई हैं.

एनकाउंटर सेना और कश्मीर पुलिस में बेहतर तालमेल की वजह से सफल-

बताया जा रहा है कि पुलवामा एनकाउंटर सेना और कश्मीर पुलिस में बेहतर तालमेल की वजह ऑपरेशन सफल हो सका था. सुरक्षाबलों से मिली जानकारी के मुताबिक कल देर शाम उन्हें पुलवामा के एक गांव में जैश ए मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकियों के छिपे होने की खबर मिली थी. इसके बाद इलाके की घेराबंदी करके ऑपरेशन शुरू किया गया. इससे पहले मारे गए आंतंकियों के पास एक अमेरिकी हथियार की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी. इसी के बाद सुरक्षाबलों में हड़कंप मचा था. इस हथियार को लेकर शुरू जांच में ही इन आतंकियों का सुराग मिला था.

लाल घेरे में आतंकी रशीद तल्हा

ताल्हा रशीद का मारा जाना आतंकियों के लिए बहुत बड़ा झटका-

पुलिस और सेना इस पूरे ऑपरेशन को लेकर आज सुबह 11 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस कर विस्तार से जानकारी देगी. जैश के आतंकी घुसपैठ के घाटी में दाखिल हुए थे। माना जा रहा है कि इन्हीं आतंकियों के साथ तल्हा रशीद भी आया था. ऐसे में ताल्हा रशीद का मारा जाना आतंकियों के लिए बहुत बड़ा झटका और सुरक्षाबलों के लिए बड़ी कामयाबी मानी जा रही है.

इससे पहले 3 अक्टूबर को जम्मू-कश्मीर में बड़ा आतंकी हमला हुआ था-

गौरतलब है कि इससे पहले 3 अक्टूबर को जम्मू-कश्मीर में बड़ा आतंकी हमला हुआ था. आतंकियों ने श्रीनगर एयरपोर्ट के पास बीएसएफ की 182वीं बटालियन के कैंप पर हमला कर दिया था. सुबह करीब 4.30 बजे हुए इस हमले का जवानों ने मुंहतोड़ जवाब देते हुए सभी 3 आतंकियों को ढेर कर दिया था.

News18tv

Related Posts